Powered by Blogger.

सिर्फ खुद की मत सोचो;कुछ तो ओरों की सोचो -सोच बदलने से मिलेगी सफलता -ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Wednesday, December 15, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज
 
 
भारतीय खिलाडिय़ों को विश्व कप बॉडी बिल्डिंग जैसी स्पर्धा में सफलता पाने के लिए अपनी सोच बदलनी होगी। जो खिलाड़ी एक बार भारतश्री का खिताब जीत लेते हैं उनको राष्ट्रीय खिताब जीतने के बाद इसका मोह छोड़कर विश्व क...
 
अखिलेश उपाध्याय / कटनी गरीब मेला में आया अस्प्रश्यता का एक और मामला सरकार लाख कोशिशे कर ले लेकिन भारतीय जनमानस से जाती-पाती के भेदभाव को मिटा पाना इतना आसान नहीं है तभी तो कटनी जिले की रीठी जनपद पंचायतो म...
 
देवदासी' इस नाम का अर्थ होता है 'ईश्वर की सेविका', किन्तु यह एक प्रथा है, यूं तो इस प्रथा को भारत में १९४० में निषिद्ध कर दिया गया था, परन्तु यह प्रथा आज भी मौजूद है, भारत के दक्षिण राज्यों में आज भी ...
 
आखिरकार जिस तरह से नीरा राडिया और टेलीफोन टेप मामले और २जी घोटाले से जुड़े मामलों में सीबीआई ने कुछ कार्यवाही शुरू कर ही दी जिस कड़ी में इन लोगों से जुड़े कई प्रतिष्ठानों में छापे मारे गए हैं वह अपने आप में ब...
 
नेताओं के झूठे वायदों से तंग आ चुकी उत्तर प्रदेश के एक गाँव की जनता ने इनसे निपटने का एक अनोखा तरीका निकाला । उत्तरप्रदेश के शहावर शाह में की बात है जहाँ गांव के लोगों ने कोरे वादे करने वाले नेताओं को ठें...
 
पप्पू, मुन्नी, शीला के गानों ने हक़ीक़त में जितने पप्पू, मुन्नी, शीला है, बिना बात उनकी नाक में दम कर दिया...कई बार असल ज़िंदगी में भी कुछ लोग इतने बड़े खलनायक या खलनायिका हो जाते हैं कि उनके ऊपर बच्चों का...
 
सिगरेट बनाने वाली कंपनी लॉरिलार्ड न्यूपोर्ट, केंट और ओल्ड गोल्ड जैसे लोकप्रिय ब्रांड की सिगरेट बनाती है.एक अदालत ने अमरीका की तीसरी सबसे बड़ी तंबाकू कंपनी को आदेश दिया है कि वह धूम्रपान करने से हुई एक महिल...
 
आजादी भरे देश में आज सभी को आजादी उपलब्ध है। प्रत्येक व्यक्ति की आजादी अपने तरीके की परिभाषा निर्मित करती है। आजादी आदमियों के लिए कुछ और कहती है तो औरतों के लिए आजादी कुछ दूसरे किस्म की है। आजादी की यह...
 
इंसान ने जितना सम्बन्ध भौतिकता से जोड़ा है , उससे कहीं ज्यादा अपनों से तोडा है । सम्बन्ध सत्य का वास्तविकता से उतना ही गहरा सम्बन्ध है , जितना गहरा सम्बन्ध जीवन का मृत्य से । 
 
आज एक और युवक ने आत्म हत्या कर ली,पता चला और दुःख हुआ बहुत हुआ और कारण है कि जिसने आत्महत्या की मैं उसे जानती थी .यूं तो रोज़ दुनिया में कितने ही लोग आत्महत्या कर रहे हैं किन्तु जिसे हम जानते हैं उसका हमें...
 
जमा देने वाली सर्दी और उफ़ ये धुंध... वो बैठी है रिक्शे में.... बेकरारी से निहार रही है – आस पास गुजरते गाडी वालों को. ५० रुपे का ठेका है... रिक्शे वाले के साथ.... ग्राहक न मिलने तक... यूँ ही घुमाता रहेगा ...
 
एपिसोड नंबर 8 अन्नप्राशन रचना नाटिका के सातवें एपिसोड में आपने सुना कि चना के बच्चे गोलू को डी.पी.टी. के तीनों टीके, बी.सी.जी. का टीका लग गया और खसरे का टीका नवमें महिने में लगेगा। लेकिन गोलू हुआ है अभी 6 ...
 
देहरादून की अनुपमा को उसके साफ्टवेयर इंजीनीयर पति ने नृशंस तरीके से ७२ टुकड़े कर मौत के घाट उतार दिया. इस लोमहर्षक घटना के वक्त क़ातिल पति की मनःस्थिति जो भी रही हो, जब उसने अपने जुर्म का इ... 
 
गांव - अंजनी, जिला - मैनपुरी, राज्य - उत्तर प्रदेश। हनुमानजी की माता अंजनी के नाम पर बसे इस गांव में दूध बेचना पाप समझा जाता है। आज जबकी देश में पानी भी खरीद कर पीना पडता है, इस दो हजार भैंसों वाले गांव ...
 
श्री यौगेन्द्र मौदगिल जी ने फंसा दिया मुझे
श्री यौगेन्द्र मौदगिल जी ने फंसा दिया मुझे :-) हा-हा-हा, लेकिन मैं खुश हूँ और अपने आपको सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूँ। धन्यवाद यौगेन्द्र जी। सांपला में हास्य कवि सम्मेलन करवाने जा रहा हूँ। तैयारियों में व्...
 
छात्र अब जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से भी मीडिया में पीएचडी कर सकेंगे। इसके लिए यूजीसी ने हरी झंडी दे दी है। अगले सत्र से मीडिया में पीएचडी कराने के लिए जेएनयू में मीडिया रिसर्च सेंटर की स्थापना भी की ग...
 
आज सुबह उठी तो पोस्ट लिखी कि पिछले पांच सालों में ब्लॉग में क्या क्या किया...क्या लिखा क्यों लिखा वगैरह. फिर सोच रही थी...कित्ता बोरिंग है. इतिहास इतना बोरिंग होता है, क्या लिखा, कैसे बदले...मानो कोई बहुत ...
 
 
 
 
 अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

5 comments:

वन्दना December 15, 2010 at 8:59 PM  

बहुत ही बढिया लिंक्स लगाये हैं काफ़ी सारे देख लिये……………आभार्।

शिवम् मिश्रा December 15, 2010 at 10:28 PM  


आप सब को विजय दिवस की हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

जय हिंद !!!

विजय दिवस पर विशेष

दीपक बाबा December 15, 2010 at 10:37 PM  

आपके यहाँ आकार तो श्री यौगेन्द्र मौदगिल जी ने फंसा दिया मुझे


बढिया लिंक्स

अशोक बजाज December 16, 2010 at 10:53 AM  

बहुत ही बढिया लिंक्स,आभार् !

शिक्षामित्र December 17, 2010 at 12:01 AM  

अच्छी चर्चा। भाषा,शिक्षा और रोज़गार ब्लॉग की पोस्ट लेने के लिए आभार।

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP