Powered by Blogger.

हरियाणा से सुधार का झोंका-रुस्तम सारंग भी कर सकते हैं छत्तीसगढ़ से पलायन- ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Saturday, December 18, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज
प्रदेश के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भारोत्तोलक रुस्तम सारंग भी अब प्रदेश से पलायन करने की तैयारी में हैं। काफी प्रयासों के बाद भी सीएएफ से जिला पुलिस में न लिए जाने के कारण अब उन्होंने बाहर से मिलने वाले ऑफरों...
ऐ खुदा तू ही बता तू जो चाहता हे वही सब कुछ होता हे फिर कुछ भी होने पर इंसान को यूँ बेवजह क्यूँ बदनाम करता हे इंसान को देख वोह तुझे कभी मन्दिर तो कभी मस्जिद तो कभी गिरजा कभी गुरुर्द्वारे में ढूंढता हे लेकिन त...
समाचार:-पी.एच.डी बनाम नेट: एक राहत भरी खबर - आयोजन रपट:-‘‘समय की सचाइयाँ और मीडिया’’ विषय पर पर... - पंकज त्रिवेदी का निबंध :-रंग और समुद्र - श्रृद्धांजली -हिंदी खेल पत्रकारिता का स्तम्भ ...
...स्टिफ ट्विन कम्पासेज:पिन कोड 273010, एक अधूरा प्रेमपत्र - 44
अपने दर्द के काफी अंश को तुम खुद चुनते हो।  भाग 1 , भाग - 2, भाग 3, भाग 4, भाग 5, भाग 6, भाग 7, भाग 8, भाग 9, भाग 10, भाग 11, भाग 12, भाग 13...
आज १९ दिसंबर है , जो कभी मेरी माँ का जन्मदिन हुआ करता था। दुनिया की सभी माँ अपने बच्चों के लिए अपना अतुलनीय स्नेह लुटाती हैं और यथाशक्ति अपनी शिक्षा , अपने ज्ञान और अनुभवों को अपने बच्चों के साथ बांटकर उसे...
हरियाणा से सुधार का झोंका
जहाँ एक तरफ हरियाणा में बहुत सारी सरकारी योजनायें और प्रोत्साहन से जुड़ी बातें भी जिस काम को नहीं करा सकीं वहीं कुछ लोगों के प्रयास ने भिवानी जिले के चांग गाँव से जो उम्मीद की लौ जलाई है वह पूरे देश को ही ...
मैं प्रेम दीवानी मीरा बन जाऊँ और तुम राधा के दास एक दूजे की पीर समझ लें फिर दोनों के प्राण ओ श्याम तब जानोगे तुम दिल की लगी की प्यास मेरे हिय की जलन है ऐसी जिसमे जल जाएँ दोनों जहान इक बार तुम भी जलकर देखो इस...
आज मुझे एक एसएमएस मिला। यह एसएमएस वैसे तो हर दिन आने वाले एसएमएस की तरह ही था लेकिन उसके मायने कुछ खास थे। आप भी देखिए। ‘ एक छोटा सा बच्चा अपनी मम्‍मी के साथ जा रहा था। रास्‍ते में एक पुल पर पानी बहुत तेजी...
प्रिय ब्लॉगर मित्रो, प्रणाम ! भारत 1947 में बेशक आजाद हो चुका था लेकिन गोवा में 450 साल से अधिक समय से जमे पुर्तगाली वापस जाने का नाम नहीं ले रहे थे। पुर्तगालियों के कब्जे के चलते गोवा के लोगों में असंत...
समय पर प्रवेश पत्र न आ पाने के कारण यूको बैंक की रविवार को होने वाली परीक्षा रद कर दी गयी है। यह निर्णय अभ्यर्थियों द्वारा किये गये हंगामे के बाद बैंक के आला अफसरों ने शनिवार को लिया है। इसके पूर्व प्रवेश ...
कविवर श्याम बिहारी गुप्त के शब्दों में:* *"आचरण ने शब्दों के अर्थ बदल दिए,* * फिर ऐसा हुआ कि अँधेरा बाँटने लगे दिए."* *विद्यार्थी जीवन के लिए कहा जाता है कि "विद्यार्थी नाम कुतो सुखम"अर्थात विद्याध्ययन...
कब तक बस यूँ ही चलते जाना है? अमूल्य मानव जीवन के बेशक़ीमती पल बीत रहे बेमकसद, क्या हमारा लक्ष्य सब कुछ खो कर बस 'हाथ का मैल' पाना है? कब तक बस यूँ ही चलते जाना है? कौन मित्र कौन शत्रु सबके इतने सारे चेहर...
किसी शायर ने क्या खूब कहा है-* *"बाद तारीफ में एक और बढ़ाने के लिए ,* * वक़्त तो चाहिए रूह दाद सुनाने के लिए ,* * मैं दिया करती हूँ हर रोज़ मोहब्बत का सबक,* * नफरतों चुग्जोहज्जत दिल से मिटाने क...
Existence is studyable as four natural-orders (चार अवस्थाएं) and four planes (चार पद). The fundamental-form of existence is – entire units being immersed (डूबी), engulfed (घिरी), and permeated (भीगी) in pe...
स्मोक फ्री शहर होने का गौरव हासिल करने के बाद भी शिमला के युवा नशे की गिरफ्त में फंसते जा रहा हैं। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और सामाजिक संस्थाओं के प्रयासों के बावजूद शहर के करीब हर तीसरे छात्र को नशे की लत ह...
हाथ में जिसके खंजर हे मेरे कत्ल के इरादे के साथ आज मुझे भी जिद हे जान चली जाए चाहे मेरी लेकिन चूम लूंगा में आज उनके खंजर थामे यह हाथ । यकीन नहीं आता तो जरा खुद देख लो मेरे इरादे ने बदल डाला हे इरादा उनका देख...
यह रहा प्रश्न आपके सामने “CASTE” शब्द किस भाषा से लिया गया है? आपके विकल्प है- १. पुर्तगाली २. डच ३. जर्मन ४. अंग्रेजी *मेरा सवाल **163 **का** सही जवाब **–** *जार्ज यूल (ये भारतीय राष्ट्रीय कांग...
आपकी नज़रों ने समझा, प्यार के क़ाबिल मुझे...आवाज़ 'अदा' की.....
आज सिर्फ़ दो शेर मुलाहिज़ा फरमाइए.... धड़कन भी कुछ काबू में हो सांसें भी अब ज़रा संभले मेरी जाँ ये मेरी उम्र भी इस तूफाँ के मुक़ाबिल ठहरे जिस दम देखा था उसने पहली बार नज़र भर के वो लम्हा मेरी ज़ीस्त का इकलौता...
सनसनाती ये हवाएं सर्द बर्फानी कि जैसे रात की चादर चुराती भागती हों ; भीगती हों ओस से आकुल तुम्हारी याद की मारी बनीं बेचैन तूफानी हमारे साथ धुंधली चांदनी में जागती हों । ओस की हों , धूल की या धुंद की हों पर ...
सेंट्रल काउंसिल ऑफ होम्योपैथी के मापदंडों को पूरा नहीं करने पर राज्य सरकार ने राज्य के तीन होम्योपैथी कॉलेजों में नए सत्र में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। यहां के छात्रों की उपाधियों को भी अमान्य कर दिय...
डाक विभाग में 5 साल या अधिक समय से काम कर रहे कर्मचारी अब सीधे पोस्टमास्टर बन सकेंगे। केंद्रीय डाक विभाग ने पोस्टमास्टर पदनाम में बदलाव करते हुए इस पद को तीन वर्गो में विभाजित किया है। ये पद प्रमोशन नहीं, ...
एक-दो कमरों में कॉलेज चलाने वालों पर यूजीसी नकेल कसने जा रहा है। इसके लिए यूजीसी ने विश्वविद्यालय को स्पष्ट निर्देश भी जारी कर दिया है। अब रविवि जल्द ही कॉलेजों को मान्यता देने संबंधी यूजीसी के रेगुलेशन को...
 दिल्ली का तीसरा दिन अपने साथ आये मित्रवर गुप्ता जी के एक *'देखुआरी*'* अभियान में बीत गया .रजनीश जी को फोनियाया तो वे कहीं किसी साहित्य अकादमी का संदर्भ देने लगे ..बाद में पता लगा कि वे किसी सीक्रेट मिशन पर...
कूडियाट्टम - केरल की प्राचीनतम नाट्यकला से रूबरू हुआ हमारा शहर
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में स्पिक मैके के सौजन्य से केरल की एक प्राचीन कला देखने का 17 दिसंबर को मौका मिला। इस विरासत को कूडियाट्टम के नाम से जाना जाता है। अद्वितीय, अप्रतिम, बेमिसाल, अनोखी जितने भी विशेषण...
बहुत दिनों के बाद हाजिर हूँ. नेट खराब था. इसलिये मूड भी ख़राब था. सृजन तो हो रहा था, मगर उसे तत्काल लोकव्यापी करने का रास्ता बंद-सा था. नेट के कारण ऐसे अनेक प्रियजनों से नाता जुडा है, कि मत पूछिए. ज़िन्द...
ताऊ रामपुरिया का इमेल पासवर्ड हैक हो गया है. अगर किन्ही ब्लाग पर ताऊ रामपुरिया के पासवर्ड से कोई कमेंट दिखे या रामपुरिया के नाम से कोई इमेल मिले तो उसे नजर अंदाज करें. जी मेल से पासवर्ड रिकवर करने का प्रोस...
7 इंच स्क्रीन वाला टच पैड जिसे टैबलेट कहा जाता है, भारत आ पहुंचा है. ये हैं सैमसंग का Galaxy Touch Pad व Olive कंपनी का OlivePad. इनके अतिरिक्त बीनाटोन व एक अन्य कंपनी का टेबलेट भी भारत में उपलब्ध होने ...
एक रात कुछ लोगों ने ज्यादा शराब पी ली। पूर्णिमा की रात थी, बडी सुंदर रात थी। चांदनी बरसती थी और वे मस्त नशे में झूम रहे थे। मस्ती में रात का सौंदर्य और भी हजार गुना हो गया था। एक पियक्कड ने कहा कि चलो आज, ...
इसे सरकार की बेबसी कहें या बेईमानों की ताकत। आम लोगों ने आईएएस बाबूलाल अग्रवाल के कारनामों को अखबारों में खूब पढ़ा सुना है। वैसे भी सरकार पर आईएएस व आईपीएस भारी होते हैं। राजस्व मंडल के सदस्य आईएएस बाबूलाल अ...
अब आप 100 रूपये किलो प्याज खरीदने के लिए तेयार हो जाइए ...........
अब आप 100 रूपये किलो प्याज खरीदने के लिए तेयार हो जाइए ........... एंकर--अ़ब आप 100 रुपये प्रतिकिलो कि डर से प्याज खरीदने को तैयार हो जाईये....जी हाँ. सियासत का तख्ता पलट करने वाली प्याज लगता है अब फिर ...
गुलाम भारत में किए गए भाषायी सर्वेक्षण के रिकार्डिंग को ब्रिटिश सरकार ने संजो रखा है। आजादी के बाद, लगभग सौ साल पुराने ये रिकार्डिंग ब्रिटिश लाइब्रेरी में सुरक्षित रहे। शिकागो यूनिवर्सिटी ने अपने डिजीटल सा...
वर्तिका नन्दा* *एक अकेला* भारत ही संवेदनशील है, भावनाओं के समुंद्र में बहता है और वह उफान में रोज गहराता है, ऐसा नहीं है कार्ला ब्रूनी जब फतेहपुर सीकरी जाती हैं तो अपनी दूसरी शादी और पहले से एक बच्चे की ...
सर्जना शर्मा जी नई ब्लॉगर है...उन्होंने अपने रसबतिया ब्लॉग पर एक बेहतरीन संस्मरण लिखा है...ये संस्मरण ऐसी शख्सीयत के बारे में जिसे हमारे में समाज में न तो पुरुष और न ही महिलाओं में स्थान दिया जाता है...ले...
गीताश्री हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक बैठक में 172 देशो के प्रतिनिधि तंबाकू उत्पादो की बिक्री और इस्तेमाल को नियंत्रित करने के लिए सहमत होगए हैं।इससे जहां तंबाकू के खिलाफ अभियान चलाने वाली एजेंसिय...
कलम का सिपाही कविता प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता-2010 के बाद हिन्दुस्तान का दर्द आपके लिए लेकर आया है *कलम का सिपाही -2 यह भी एक कविता प्रतियोगिता है ,इस प्रतियोगिता का मकसद भी होगा हिंदी की सेवा,दोस्...
आज सुबह से ही मन में भँवर सा उमड़ रहा है। भावनाओं के तूफान में बेचारे शब्‍द तेजी से घूम रहे हैं। उन्‍हें कहीं कोई मार्ग ही नहीं मिल रहा कि बचकर किधर से निकला जाए? कभी यह भँवर गोल-गोल घूमता हुआ बचपन में ला...
आओ गाठी पाईये
आज के समय में ये गाठी पाने वाला खेल यदा कदा ही दिखता है। कुछ वर्षों पहले तक बच्‍चे गाठी, गुल्‍ली-डंडा, पतंगबाजी, पकड़मकपड़ाई, लोहा-लक्‍कड़, छुपन-छुपाई, भागमभाग मतलब चैन बनाकर पकड़ना आदि खेल खेला करते थे। ...
प्रिय मित्रो , ब्लॉग जगत में एक आलेख प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है । हमारा उद्देश्य पर्यावरण के प्रति चेतना जागृति करना है। आज पर्यावरण की हानि होने से ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या से पूरी दुनिया को ...
कुँवर कुसुमेश- विरासत को बचाना चाहते हो, कि अस्मत को लुटाना चाहते हो। तुम्हारी सोच पे सब कुछ टिका है, कि आख़िर क्या कराना चाहते हो। रियलिटी शो के ज़रिये चैनलों में, बदन नंगा दिखाना चाहते हो । अरे ओ पश...
शिरीष के सूखे फल की भाँति, जो कि वृक्ष के फूल-पत्ते झड़ जाने तथा पेड़ के ठूँठ जैसा हो जाने के बावजूद भी, पेड़ से लटकते और खड़खड़ाते ही रहता है, हम भी, साठ साल की उम्र पार कर जाने परवाह न करते हुए, ब्लोगिंग और इ...
पिता, पिता जीवन है, सम्बल है, शक्ति है, पिता, पिता सृष्टि में निर्माण की अभिव्यक्ति है, पिता अँगुली पकडे बच्चे का सहारा है, पिता कभी कुछ खट्टा कभी खारा है, पिता, पिता पालन है, पोषण है, परिवार का अनुशासन है...
उदास मन ...................... दिल के उस उदास एकांत कोने में, अक्सर घूमा करता हे मेरा मन , अकेला ही किसी भूत की तरह , पर डरता नहीं हे वो किसी से , उस उदासी भरे अकेले एकांत कोने की , किसी कब्र में दफ़न हेंकिस...
हिंदी ब्लॉग जगत के लिए बेहद सम्मानित मैथिली जी एवं सिरिल !* *मैं एक सामान्य व्यक्ति हूँ , हिंदी ब्लॉगजगत के लिए जो कार्य आप पिता पुत्र ने किया है उसका सम्मान करता हूँ ! ब्लोगवाणी के चले जाने से जो रिक्तस...
आप के सामने अमन का पैग़ाम एक बार फिर से हाज़िर है. अमन का पैग़ाम का मकसद समाज की उन कमियों को सामने लाना है, जिनके कारण एक इंसान दूसरे इंसान के करीब नहीं जा पाता. अक्सर मुझसे सवाल किया क... 
दिल्ली में मिलेंगे भाई अशोक बजाज -- 22 तारीख को पदभार ग्रहण समारोह ---- ललित शर्मा
ललित शर्मा और अशोक बजाज जी* कल भाई अशोक बजाज से मिलने गए बधाई देने के लिए। भाई अशोक बजाज कार्यकर्ताओं के प्रिय है। सहज मिलन सार और सबकी सुनने वाले व्यक्तित्व के स्वामी होने के कारण कोई भी पीड़ित व्यक्ति...
सतनाम पंथ के प्रवर्तक बाबा गुरू घासीदास की आज जयन्ती है , पूरे छत्तीसगढ़ में उनके अनुयायी बड़े धूमधाम से यह पर्व मानते है वे मानवता के पुजारी थे . उनकी मान्यता थी - " मनखे मनखे एक हे ,मनखे के धर्म एक हे...
पाखाना कि खजाना
रामगढ़ की तर्कशील सोसायटी ने किया रहस्योद्घाटन* *गायब हुआ धन पाखाने की कुंई में खोज निकाला* *विनोद स्वामी व अजय सोनी* परलीका. घर में बना पाखाना परिवार का गायब हुआ धन उगलने लगा तो देखने वाले हैरान रह गए...

रंग-बिरंगी चिड़िया रानी। * *सबको लगती बहुत सुहानी।। * ** *दाना-दुनका चुग कर आती। * *फिर डाली पर है सुस्ताती। * ** *रोज भोर में यह उठ जाती। * *चीं-चीं का है राग सुनाती।। * ** *फुदक-फ...
शायद ! हम ईश्वर प्राप्ति का ढोंग कर रहे हैं क्योंकि सच्चाई तो यह है कि हम माया-मोह के प्रपंचों से बाहर निकलना ही नहीं चाहते।" आचार्य उदय 
भारतीय काव्यशास्त्र रस-सिद्धांत आचार्य परशुराम राय पिछले अंक में विभाव, अनुभाव और व्यभिचारी भावों या संचारी भावों की चर्चा की गयी थी। रस के सम्बंध में प्रतिपादित सिद्धांतों की संक्षेप में चर्चा इस अ...
 
अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे

5 comments:

वन्दना December 18, 2010 at 9:08 PM  

एक से एक उम्दा लिंक्स्…………आभार्।

संगीता स्वरुप ( गीत ) December 18, 2010 at 9:59 PM  

विस्तृत चौपाल ...आभार

दीपक बाबा December 18, 2010 at 11:43 PM  

आज तो पूरे जिले की चौपाल सजा दी.

Kajal Kumar December 19, 2010 at 2:07 AM  

अरे ! आज मेरा आलेख भी सम्मिलत है! बहुत बहुत आभार.

मनोज कुमार December 19, 2010 at 9:52 AM  

बहुत अच्छे लिंक्स।

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP