Powered by Blogger.

आया गणपति के साथ ईद का त्यौहार-बांटते चले सबको प्यार -ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Friday, September 10, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज

वास्तव में यह आज की पीढ़ी के लिए एक सुखद संयोग है कि हम लोगों को एक साथ गणपति के साथ ईद का त्यौहार देखने का अवसर मिल रहा है। कहते हैं कि ऐसा मौका 14 सौ साल पहले आया था। चलिए आज ऐसे अवसर पर दुआ करते हैं कि समुचे विश्व में एकता और भाईचारा कायम रहे।

 
 
 भारत भूमि पर प्रेम , विश्वास और श्रध्दा की त्रिवेणी * आज गणेश चतुर्थी का पावन पर्व है , आज तीज भी है, यह सुहागनों के कठोर व्रत का पर्व है .जिन सुहागनों ने कल तीज का पर्व मनाया वे आज व्रत तोड़ेंगी .कुछ ...
 
महाराष्ट्र में पुणे के समीप ऐतिहासिक महत्त्व के ८ प्राचीन गणेश मंदिर हैं. अष्टविनायक के यह पवित्र मंदिर २० से ११० किलोमीटर के क्षेत्र में स्थित है। इन मंदिरों का पौराणिक महत्व और इतिहास है। इनमें विराजित ...
 
दूज का चन्दा गगन में मुस्कराया। * *साल भर में ईद का त्यौहार आया।। * * * *कर लिए अल्लाह ने रोजे कुबूल, * *अपने बन्दों को खुशी का दिन दिखाया। * *साल भर में ईद का त्यौहार आया।। * * * *अम्न की खातिर पढ़ी थीं...
 
खुशी की बात है, देर से ही सही, लोग सच्चाई जानने तो लगे हमारे प्रदेश की। दिल्ली से मिली एक ई-मेल :- RAIPUR: In the news more for its chronic insurgeny and tribal poverty, Chhattisgarh will soon boast of on...
 
छत्तीसगढ़ के दस साल पूरे होने के अवसर पर प्रदेश की राजधानी में होने वाला छत्तीसगढ़ ओलंपिक महाकुंभ एक खास अंदाज में होगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की घोषणा के बाद इस आयोजन की तैयारी में खेल विभाग जुट गया है...
 
संघर्ष एवं क्षत्रिय | गीत संगीत की बाते ताऊ अस्पताल में बाबाश्री ललितानंद जी महाराज 
 
निकुंज को देखा था इनमें संलग्न होते हुए, खोते हुए, उनको एक दूसरे में घण्टों तक समीकरणबद्ध करते करते हर बार एक नया ढांचा बनाते हुए ! और फिर जब उसका एक भाग भी कहीं खो जाता तो झुंझलात...
 
आज दो प्रमुख त्यौहार साथ-साथ है ईद और गणेश चतुर्थी। आप सभी को गणेश चतुर्थी और ईद की शुभकामनाएं। हर्षोल्लास से मिलकर प्रेम से त्यौहार मनाएं। ब्लाग जगत में भी इन त्यौहारों पर शुभकामनाओं की धूम हैं। बधाईयाँ...
 
ओफ्फो!...पता नहीं कब अकल आएगी तुम्हें?…चलते वक्त देख तो लिया करो कम से कम कि पैर कहाँ पड़ रहे हैँ और नज़रें कहाँ घूम रही हैँ" बीवी चिल्लाई "क्यों?...क्या हुआ?"... "कुछ तो शर्म किया करो...
 
अनामिका की सदायें में- हर पल होंठों पे बसते हो ....
हर पल होंठों पे बसते हो * *मेरे मौन को तोड़ा करते हो* *धूप - छाँव दे मोह -माया की * *अपनी महता तोला करते हो.* * * *अश्रु गगरी नीर भरे जब * *वेदना-विह्व्हल हो जाती है * *मोहिनी सूरत ला ख...
 
पिछले दिनों कश्मीर में वहां के नेता उमर अब्दुल्ला पर भीड़ में एक युवक ने जूता फेंक दिया। युवक तो पकड़ा ही गया साथ ही दो डीएसपी स्तर के अधिकारी भी निलंबित कर दिए गए। खबर इतनी ही नहीं है। इसके पहले भी देश-दुनि...
 
फेसबुक *पर आज मेरी एक पूर्व परिचिता *डॉ .तरलिका त्रिवेदी *जो मूलतः गुजराती भद्र महिला और विज्ञान कथाओं की प्रेमी हैं ने नार्सिसस की दुखद दास्तान का जिक्र किया है -नार्सिसस एक सुन्दर यूनानी युवक की मिथक... 
 
सूरज है वो सबसे ज्यादा चमकना चाहा सबके जीवन प्राण बनना चाहा सबसे ऊपर उठना चाहा जो चाहा सब मिला दूसरों को ज़िन्दगी देना आसान कब होता है किसी को जीवन देने के लिए खुद की आहुति दी जाती है हर अभिलाषा को...
 
 अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

3 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) September 11, 2010 at 2:37 AM  

बहुत अच्छी चौपाल ...कुछ नए लिंक्स मिले ..

वन्दना September 11, 2010 at 2:57 AM  

आज तो काफ़ी लिंक्स मिले…………आभार्।

अनामिका की सदायें ...... September 11, 2010 at 9:44 PM  

acchhi chaupaal sajate hai....kuch members ko bhi nimantran patr bhejiye tabhi to pata chalega chaupal ka.

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP