Powered by Blogger.

मैं, अंधेरों का आदमी!!!, रायपुर की एक सुबह-ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Wednesday, September 29, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज  
 
अब से चंद घंटों बाद न जाने क्या होने वाला है, पूरे देश में एक खामोशी है, यह खामोशी आने वाले तूफान का संकेत है, अब यह तूफान अमन और शांति का हो यही दुआ कर सकते हैं।
 
 
 
बचपन, खेल खेल में जुगनू पकड़ कर शीशी में बंद कर लिए. ढक्कन में एक छेद भी बनाया कि वो सांस ले सकें. सुबह को देखता था उन जुगनुओ को. कोई चमक न दिखती तो बंद अलमारी के अंधेरे में ले जाकर देखता. रात तीन बंद किय...
 
एक जगह पहुंचकर अच्छे और बुरे में बहुत कम दूरी रह जाती है इने-गिने लोगों की दुष्टता सब लोगों के लिए मुसीबत बन जाती है ! स्वार्थी लोगों को उजाले से नफरत होती है हर हिंसा सबसे पहले गरीब का घर उ...
 
आखिर वो वक्त आ ही गया, जब महाराज, रामप्यारे और मिस समीरा टेढ़ी सम्मेलन स्थल का निरीक्षण करने पहुँचे. रामप्यारे अपनी आदत के अनुसार सम्मेलन स्थल का विवरणदेने लगा. चारों तरफ फूलों की क्यारियाँ, हरियाली, सामने...
 
पाबला जी के एक आलेख को पढ़कर एक प्रयास, छोटे से कैमरा का कमाल । रिकॉर्डिंग avi फ़ारमैट में थी पिक्चर बहुत अच्छे थे लेकिन फाइल साइज़ कुछ 900 एमबी थी इसलिए इसे एमपी4 में कन्वर्ट करके अपलोड किया । बताइये कैसा...
 
आज का तीक्ष्ण-शर-विधृत-क्षिप्र-कर, वेग-प्रखर शतशेल सम्वरणशील, नील नभ-गर्जित-स्वर, प्रतिपल परिवर्तित व्यूह - भेद-कौशल-समूह राक्षस-विरुद्ध-प्रत्यूह, - क्रुद्ध-कपि-विषम-हूह, . .है अमानिशा, उगलता गगन घन-अन्...
 


आज , एक ऐसे संवेदनशील विषय पर लिखने जा रही हूँ, जिसके जिक्र से सब आँखें चुराते हैं और ऐसा प्रदर्शित करते हैं ,मानो ना कभी देखा ,ना सुना हो. अभी कुछ दिन पहले सलिल जी के ब्लॉग पर एक पोस्ट पढ़ी, "पति पत्नी और...
 
 
जीवन कहीं भी ठहरता नहीं है....... आंधी या तूफ़ान से डरता नहीं है..... तू न चलेगा....तो चल देगी राहें..... मंजिल को तरसेगी तेरी निगाहें.... तुझको चलना होगा..... तुझको चलना होगा..... 
 
ईश्वर अल्लाह तेरो नाम सबको सन्मति दे भगवान* …
 
 
आज ही ये ग़ज़ल कही. मन हुआ कि आज ही आपके सामने प्रस्तुत कर दूं. और परिमार्जन होता रहेगा बाद मे. शेरो की खासियत ही यही होती है कि उसके बारे में बताना नहीं पड़ता कि, कवि-शायर कहना क्या चाहता है. फिर जिस तरह क...
 
अंतरराष्ट्रीय हॉकी निर्णायक और पूर्व अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी नीता डुमरे कामनवेल्थ में महिला हॉकी के लिए तकनीकी अधिकारी नियुक्ति की गई हैं। विश्व हॉकी फेडरेशन ने भारत से एकमात्र नाम नीता डुमरे का ही भेजा...
 
 
अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे 
 
 
 

5 comments:

Bunty September 29, 2010 at 8:10 PM  

चोरी की चर्चा ...
आप की पोस्ट चोरी हो गयी ...
http://chorikablog.blogspot.com/2010/09/blog-post_4295.html

संगीता पुरी September 29, 2010 at 8:11 PM  

बहुत सुंदर चौपाल .. अच्‍दे लिंक्स मिले !!

संगीता स्वरुप ( गीत ) September 29, 2010 at 11:05 PM  

बहुत बढ़िया चौपाल ..अच्छे लिंक्स मिले

वन्दना September 29, 2010 at 11:12 PM  

बहुत सुन्दर चौपाल्…………………काफ़ी लिंक्स मिले।

Sadhana Vaid September 30, 2010 at 7:28 PM  

बहुत अच्छी लगी यह चौपाल राजकुमार जी ! आपको बहुत बहुत धन्यवाद एवं शुभकामनाएं !

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP