Powered by Blogger.

ब्लागवाणी को क्या हो गया-क्या उसका सरवर सो गया- ब्लाग चौपाल राजकुमार ग्वालानी

>> Saturday, June 19, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज
 
 
ब्लागवाणी पर कल से तालाबंदी है। पता नहीं क्या हो गया है, हमें तो लगता है उसका सरवर सो गया है। अब यह तो उसके संचालक ही बता सकते हैं कि क्या हुआ है। खैर हम चलते हैं आज की चर्चा की तरफ। रविवार की छुट्टी में देखें किसने क्या गुल खिलाए हैं अपने ब्लाग में। 
 
ब्लॉगवाणी को क्या हो गया भाइयों। कोई बता सकता है कि इसे सॉप क्यों सूंघ गया है कल से ??????? 18 तारीख को 3.19 PM से ख्वाहिशें ऐसी वाले रामकुमार सिंह जी की पोस्ट पर अटका हुआ है। सबेरा होकर पूरा 19 निकल गया क...
 
कल सायं 03:19 के बाद से ब्लोगवाणी में हिन्दी ब्लोग्स के पोस्टों का अद्यतनीकरण (updation) नहीं हो रहा है। ब्लोगवाणी के प्रशंसक निराश हैं। हमने तो यही अनुमान लगाया था कि शायद ब्लोगवाणी का रख-रखाव (maintenanc...
 
अदा' कहती हैं- इन्डली .....ब्लॉग वाणी ....
 
कल से ब्लॉग वाणी को बंद देख कर राहत भी हुई है और चिंता भी ...लेकिन एक बार मन ने ज़रूर कहा बहुत अच्छा हुआ ब्लॉग वाणी बंद है...ब्लॉग का माहौल ख...
 
 
मंगलवार से गले में खरास और उससे उपजे विकारों ने घेर रखा था, तेज बुखार और एक पर एक पार्टियाँ टोरोंटो में...सब कुछ बढ ही रहा था, जब तक शिकागो घर कैब वाले ने पटका. उसके बाद गरारे और पानी की पिलाई करी जमकर. ...
 
हमारे मित्र डॉ0 वीरेन्द्र सिंह यादव को लेकर एकदम ही नौसिखिये होने के कारण.. कल कुछ गलती हो गई थी वही पोस्ट आज फिर क्षमा करियेगा आया। करियेगा पॉडकास्ट का मन किया, इस चक्कर में अपनी पहली PODCASTING POST आपके...
 
मत छेड़ो तंत्री के तार ! बिखर जायेंगे छूते ही ये, गले विरह में बन कर छार ! मत छेड़ो तंत्री के तार ! उर में अब उल्लास न आता, नहीं आज है कुछ भी भाता, सजनि प्रेम की मधुर रागिनी को अब कौन यहाँ है गाता, रे गायक 
 
 
"अरे!...गांधी जी...आप?...आप यहाँ कैसे?...प्रणाम स्वीकार करें"... "इधर-उधर क्या देख रहे हैं जनाब?..मैं आप ही से...हाँ-हाँ ...आप ही से बात कर रहा हूँ".... "तो फिर ये *‘गां...
 

Source: गोपालकृष्ण गांधी | *इससे पहले* - मोहल्‍ला लाइव, यात्रा बुक्‍स और जनतंत्र का आयोजन - ऐसी क्यों है जिंदगी चेन्नई में वह टैक्सी मुझे सेंट्रल स्टेशन की ओर लिए जा रही थी। सुबह के पांच बज...
 
दलित उत्पीडन की ख़बरें अक्सर अख़बारों में सुर्खियाँ बनती है फिल्मो में भी अक्सर दिखाया जाता रहा है कि एक गांव का ठाकुर कैसे गांव के दलितों का उत्पीडन कर शोषण करता है | राजनेता भी अपने चुनावी भाषणों में दलितो...
 
शशि कहती हैं- बोल्ड फिल्म है ”मिस्टर सिंह मिसेज मेहता ” -- प्रशांत नारायण
केरल में जन्मे व दिल्ली में बढे हुए प्रशांत बैडमिंटन के चैंपियन रह चुके हैं और उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज में पढाई की है. १९९१ में प्रशांत दिल्ली से मुंबई आ गये अपने अभिनय सफ़र को मं...
 
 
 
अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे 
 
 
 
 
 
 
 

4 comments:

Ratan Singh Shekhawat June 20, 2010 at 12:49 AM  

बढिया चर्चा

राम त्यागी June 20, 2010 at 4:42 PM  

हमेशा की तरह लाजबाब ! यहाँ आकर हर तरह की पोस्ट पढ़ने को जो मिलाती हैं.

'अदा' June 21, 2010 at 6:01 PM  

बहुत बढियां..हमेशा की तरह..
हृदय से धन्यवाद...

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP