Powered by Blogger.

एक वाणी की जगह दूसरी वाणी-ब्लागवाणी का स्थान भरेगी हमारीवाणी- ब्लाग चौपाल राजकुमार ग्वालानी

>> Monday, June 28, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज

ब्लागवाणी का इंतजार सभी कर रहे हैं, लेकिन यह किसी को मालूम नहीं है कि इसकी वापसी होगी या नहीं। ऐसे में एक और वाणी हमारीवाणी का आगमन हुआ है। अब यह तो समय बताएगा कि यह वाणी ब्लागवाणी का स्थान ले पाती है या नहीं, लेकिन इतना तय है कि ब्लागरों को एक नया मंच जरूर मिल गया है। 
 
 
 
सांची कहे तोरे आवन से हमरे,* *अंगना में आई बहार भोजी...* नदिया के पार का बड़ा हिट गाना है ये...लेकिन आज मुझे क्यों याद आ गया...इसकी बात पोस्ट के आखिर में करूंगा... पहले बात *ब्लॉगवाणी *की...दरअसल, *मयखाना...
 
बखरी के तूमा नार बरोबर मन झुमरै डोंगरी के पाके चार ले जा लाने दे बे. मया के बोली भरोसा भारी रे कहूँ दगा देबे राजा लगा लेहूँ फॉंसी. बखरी के तूमा नार ..... हम तैं आघू जमाना पाछू रे कोने पावे नहीं बांध ले मया म...
 
 
(१) हे परमेश्वर! मृत्युलोक की अद्भुत हैं लीलाएं किस किस को कोई याद रखे, किस किस को भूलते जाएँ *मौत कहर बरपाती है किस कदर पेश है एक नमूना * बिजली के करंट ने छीनी तीन जिन्दगी, कर दिया घर आँगन- सूना 
 
 
एक जमाना था जब दूरदर्शन के अलावा कोई दूसरा टी.वी. चेनल नहीं था और कुछ थे भी तो वे आम आदमी की पहुँच से दूर थे |आम आदमी को तो टी.वी पर प्रोग्राम देखने के लिए दूरदर्शन पर ही निर्भर रहना पड़ता है | 1985 का वह ...
 
एक दिलचस्प सर्वे में यह खुलासा किया गया की पुरुषों के बारे में स्त्रियाँ के ख्याल अच्छे नहीं होते है ... सर्वे में स्त्रियों की राय कुछ इस तरह की थी . पुरुष" " जैसे चाकलेट बार, शुरू में मधुर, मसालेदार, बाद...
 
 
अरे आप तो बिल्कुल वैसे ही दिखते हैं जैसी फ़ोटो आपने अपनी प्रोफ़ाईल में लगाई हुई है "ये बात जब मैंने अपनी पहली ब्लोग्गर मीट एक साथी ब्लोग्गर के मुंह से सुनी थी तो बरबस ही मुस्कुरा उठा था । और...
 
 
रंगमंच की दुनिया इस दिखाई देने वाली दुनिया के भीतर होते हुए भी न दिखाई देने वाली एक अलग दुनिया होती है । अगर आपको रंगमंच के कलाकारों का जीवन देखना है तो किसी नाट्य संस्था से जुड़कर देखिये । 
 
जयपुर हिन्‍दी ब्‍लॉगर मिलन में तकनीक के एक नए पक्ष से परिचय हुआ। इसकी जानकारी व्‍यंग्‍यकार अनुराग वाजपेयी जी के माध्‍यम से मिली, जिनका यह आइडिया है। अनुराग वाजपेयी जयपुर के नामी व्‍यंग्‍यकार हैं। 
 
नवीन प्रकाश बता रहे हैं- विंडोज 7 के जैसा टास्कबार विंडोज एक्सपी में
 
विंडोज 7 की खूबियों में से एक है इसका आकर्षक और उपयोगी टास्कबार अगर आप अभी भी विंडोज एक्सपी का ही प्रयोग कर रहे हैं तो भी आप विंडोज 7 जैसा टास्कबार प्राप्त कर सकते हैं । एक छोटा मुफ्त टूल तो आपके टास्कबा...
 
लिख्खाड़ानन्द ने अपना पोस्ट प्रकाशित किया! पोस्ट को प्रकाशित करने के तत्काल बाद ही सौ मित्रों तथा परिचितों को मोबाइल, ईमेल और चैट मेसेन्जर के माध्यम से सूचना दी कि मेरी पोस्ट प्रकाशित हो गई है। अगले चौबीस 
 
 

अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे
 
 
 
 
 
 
 

4 comments:

Udan Tashtari June 28, 2010 at 6:57 PM  

अच्छे लिंक्स!! आभार!

राजकुमार सोनी June 28, 2010 at 7:32 PM  

अभी जाता हूं हमारी वाणी पर..
काफी सधी हुई चर्चा।

शिवम् मिश्रा June 28, 2010 at 8:22 PM  

काफी सधी हुई चर्चा। आभार!

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP