Powered by Blogger.

इंग्लिश में गाली-लगती है निराली-ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Sunday, October 3, 2010

 सभी को नमस्कार करता है आपका राज

सीधे चौपाल में ही चलते हैं.... 
 
आज ब्लॉग पढते पढते कुछ नयी बाते पता चली हैं । पता चला हैं जो नारी गाली देती हैं वो नारी के नाम पर कलंक हैं । और जो स्त्री कोमल और सुंदर नहीं हैं वो स्त्री ही नहीं हैं राम राम कुछ दिन पहले एक कमेन्ट मे टिप्...
 
एक सामान्य व्यक्ति अतीत और इतिहास को अलगाकर नहीं देखता; अक्सर ही दोनों का प्रयोग समानार्थी की तरह कर डालता है। लेकिन इतिहास का एक सजग पाठक ऐसी गलती से भरसक बचेगा। अतीत एक समग्र अस्तित्व का नाम है जबकि इतिहास 

 हमारे ब्लाग राजतंत्र ने कल शतकों का सिक्सर लगाते हुए 600 पोस्ट पूरी कर ली। इसी के साथ हमारे सभी ब्लागों की पोस्ट को मिलाकर अब हमारे कदम 2000 पोस्ट की तरफ बढ़ गए हैं। राजतंत्र का आगाज हमने फरवरी 2009 में
 
बेनामी भाई आप फिर से अपनी ऋणात्‍मक सोंच के साथ हाजिर है ...मेरे विरोधी मात्र एक पोस्‍ट के साथ लिंक ही देना था तो वो सकारात्‍मक पोस्‍टों की भी ता दे सकते थे .. जां संख्‍या में अधिक हैं , जैसे कि संगीता पुरी...
 
आयी हो तुम कौन परी... केशव कर्ण मन-मंदिर के मृदुल सतह में, पली कल्पना एक बड़ी ! कल्प-लोक से उतर धरा पर, आयी हो तुम कौन परी ? अकथ-अतुलनीय, अश्रुत, सुन्दर, उस असीम की जादूगरी ! कल्प-लोक से उतर ...
 
छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस - १ नवंबर के अवसर के लिए "छत्तीसगढ़ थीम सांग " तैयार करने हेतु छत्तीसगढ़ सरकार प्रयत्न कर रही है ... देश की नामी-गिरामी हस्तियों से संपर्क का प्रयास जारी है ... इसी बीच मेर...
 
भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर बीजेपी के नाम से नकली वेबसाइट बनाने का आरोप लगाया. नकली वेबसाइट का नाम bjp.com रखा गया. इस पर क्लिक करते ही बीजेपी के बजाए कांग्रेस की वेबसाइट खुली. सबूत अब भी इंटरनेट पर...
 
तमाम विवादों और आलोचनाओं के बीच आज दिल्ली में १९ वें राष्ट्रमंडल खेलों की शुरुआत हो रही है। दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद है और शहर पूरी तरह छावनी में तब्दील हो चुका है। पिछले कई महीनों से हमारे ...
 
by Ankit Therealscholar on Saturday, October 2, 2010 at 11:15pm मित्रों , अयोध्या के सम्बन्ध में *माननीय उच्च न्यायलय ने जो हिन्दुओं के पक्ष में निर्णय दिया है वो अत्यंत ही दुर्भाग्यपूर्ण *क्यूँकी सौभाग्...
 
प्रेम परकास प्रियतमा बेबी कुमारी राय का सखी सकीना को पत्र..** * * *का हमर डारलीन सखी, सब भुला गई, हो? ऊ दांती काटा वाला कसम खाई थी, कि हमरे तुमरे जीबन में चाहे जो हो, जौन कोई हो, हमरे आपस के परेम का ई प...
 
छत्तीसगढ़ की राजधानी में इन दिनों बड़े व प्रतिष्ठित माने जाने वाले अखबारों ने नया खेल शुरु किया है । अपनी प्रतिष्ठा बचाने के फेर में 'नवभारत' ने तो जग हंसाई कर दी। पता नहीं यह मैनेजमेंट का दिमाग था या शहर को न...
 
अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे 
 
 
 
 
 
 
 
 

2 comments:

वन्दना October 3, 2010 at 11:08 PM  

बहुत सुन्दर लिंक्स के साथ चौपाल सजाई है।

संगीता स्वरुप ( गीत ) October 4, 2010 at 12:05 AM  

बहुत बढ़िया चौपाल ...अच्छे लिंक्स मिले ..आभार

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP