Powered by Blogger.

जिंदा हूँ मैं-प्रेम की पीड़ा-ब्लाग चौपाल- राजकुमार ग्वालानी

>> Thursday, November 25, 2010

सभी को नमस्कार करता है आपका राज
 
 
मुक्तिका: सच्चा नेह संजीव 'सलिल' * तुमने मुझसे सच्चा नेह लगाया था. पीट...
 
मैंने तो बस सच कहा है , लाग लपेट उसमे ना कोइ , इस पर भी यदि बुरा मानो , सोच लो कुछ कहा ही नहीं | आशा 
 
पढ़ी-लिखी हो बीबी काम कुछ करती नहीं सास-ससुर की बात क्या पति से भी डरती नहीं।। सुबह दस बजे तक आराम से सोती रहती हैं उठते साथ पति को बेड-टी का आर्डर देती हैं।। फिर पति को हो चाहे दफ्तर के लिए देर बनाने पड़...
 
साइकिल पर रखकर सामना सुबह सुबह निकल पड़ते हैं किस्मत से लड़ने गली गली आवाज़ लगाते "फोल्डिंग बनवा लो " और फिर कभी कभार ही कोई मेहरबान होता है बुलाता है मोल भाव करता है और बड़ा अहसान- सा करके काम देता ह...
 
साहित्‍य शिल्‍पी में भाई राजीव रंजन प्रसाद नें बस्तर के वरिष्ठतम साहित्यकार लाला जगदलपुरी से बातचीत [बस्तर शिल्पी अंक-2] प्रकाशित की है लाला जी के संबंध में राजीव जी की दृष्टि और साक्षात्‍कार को पढ़ना अच्...
 
मित्रों जरूरी नहीं कि आपका हमराह सदा आपके साथ ही चले, कुछ शिकवे हो सकते हैं, कुछ शिकायते भी.. और बीच मजधार में जब यही शिकवे और शिकायते .... कसमे वायदों पर भारी पड़ती हैं तो मुहं से आह निकलती हैं : प्रस्तुत...
 
कई दिनों से बस सोचता ही रह गया कि आज लिखूं या कल ...? मौक़ा मिला भी नहीं और प्रविष्टि मन में ही बनी रही ! घटना को अब तक लगभग एक हफ्ता गुज़र चुका है लेकिन मुद्दा अनुत्तरित सवाल सा यथावत ! वो दोनों एक नि...
 
प्रेम की पीड़ा और इश्क की सियासत मिल कर जब चिन्तन करते हें यह चिन्तन और इसका रस रंग जब संगीत में ढला करते हें तब इन सब के मिलन को हम गजल और कविता कहा करते हें । अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान 
 
समय जो ना कराये कम है. मुझे आदेश मिला सबसे दूर रहने का और मैंने स्वीकार कर लिया. इस बीच कई तरह के चुतियापों और ज़िंदगी की सीख से रूबरू होने का मौका मिला मुझे. इस बीच कहाँ रहा और क्या क्या किया. इसकी झलक इन ..

पणजी, गोवा, 25 नवम्‍बर भारत के 41वें अंतरराष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह में विश्‍व सिनेमा खंड में दिखाई जा रही अधिकतर फिल्‍मों में स्त्रियों का नया अवतार चकित कर देने वाला है। यह संयोग नहीं है कि ईरान, जापा...
 
 अच्छा तो हम चलते हैं
कल फिर मिलेंगे
 
 
 
 
 

5 comments:

अशोक बजाज November 25, 2010 at 8:13 PM  

बहुत सुन्दर चौपाल प्रस्तुत करने के लिए धन्यवाद !

डॉ॰ मोनिका शर्मा November 25, 2010 at 10:12 PM  

सुन्दर चौपाल .....धन्यवाद

Asha November 25, 2010 at 10:43 PM  

ब्लॉग चौपाल अच्छी सजी है बधाई |
मुझे यहाँ जगह देने के लिए आभार |
आशा

वन्दना November 25, 2010 at 11:27 PM  

बहुत सुन्दर चौपाल्………बढिया लिंक्स्।

Post a Comment

About This Blog

Blog Archive

  © Blogger template Webnolia by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP